रुचि के स्थान

भगवान् श्री विमलनाथ जी कम्पिल तीर्थ क्षेत्र

                  कम्पिल तीर्थ क्षेत्र

जिला मुख्यालय से लगभग 45 किलोमीटर दूर तहसील कायमगंज में, यह महान पुरातनता का स्थान है और कहा जाता है कि यह स्थान संत कांपिला द्वारा स्थापित किया गया था। ऐसा कहा जाता है की प्रसिद्ध स्वंयवर जिसमे जिसमें अर्जुन द्रौपदी का हाथ जीतने में सफल रहा वह यहीं हुआ था । शहर में स्थित रामेश्वरनाथ महादेव का मंदिर बहुत पुराना है। पारंपरिक रूप से प्रभु श्री राम के भाई शत्रुघ्न को मंदिर का श्रेय दिया जाता है। ऐसा कहा जाता है कि वो जो शिव लिंग मूर्ति लेकर आये थे उस्सी मूर्ती को माता सीता के द्वारा लंका में अशोक वाटिका में पूजा गया था । सरोगी समुदाय ने जैन तीर्थंकर, नेमिनाथ को समर्पित तीन मंदिरों के निर्माण की सदस्यता ली, जिसने जैनों को पवित्र स्थान बना दिया है।

_____________________________________________________________________________________________________________

संकिसा मन्दिर फर्रुखाबाद

संकिसा

संकिसा, जिला  मुख्यालय से लगभग 38 किलोमीटर की दूरी पर स्थित, मुख्यालय के दक्षिण-पश्चिम का यह हिस्सा महात्मा बुद्ध और उसके प्राचीन बौद्ध अवशेषों के साथ संबंध के लिए जाना जाता है।

______________________________________________________________________________________________________________

उपरोक्त स्थानों के अलावा, कायमगंज तंबाकू उद्योग और एक चीनी मिल के लिए जाना जाता है। जिला फर्रुखाबाद में 12 लाक मीट्रिक टन आलू का उत्पादन किया जाता है , जिस कारण जनपद में 71 शीत भंडार हैं जिनकी कुल भण्डारण क्षमता 08 लाख मीट्रिक टन है , जिले को सूरजमुखी की खेती के लिए भी जाना जाता है।